Followers

Wednesday, December 8, 2010

नए पुराने ब्लोगरो हेतु ब्लोगिंग टिप्स

     मुझे हिन्दी ब्लोगिंग में बहुत ज्यादा समय नहीं हुआ है लेकिन जितना समय हुआ है उसमे बहुत कुछ सीख गया हूँ | ये पोस्ट लिखने की आवश्यकता भी रोहतक में ब्लोग्गर मिलन के बाद ही महसूस हुई है | ज्यादा भूमिका बनाए बगैर सीधे काम की बात पर आते है |

     नए बलोगर जो गलती करते है उनके बारे में पहले भी एक पोस्ट मैंने लिखी थी | उन बातों को दुबारा यहां लिख रहा हूँ |
वर्ड वैरिफ़िकेशन - नए ब्लोगर इसे हटाते नहीं जिससे उनके बलोग पर टिप्पणी देने में परेशानी आती है और मजबूरन पाठक दुसरे बलोग पर चले जाते है | इसका तरीका है -ब्लोगर डेशबोर्ड --> सेटिंग---> कमेंट्स ---- >शो वर्ड वैरिफ़िकेशन फार कमेंट्स ---->सेलेक्ट नो-----> सेव सेटिंग्स
     
     सब्सक्राईब करने का लिंक - अपने पाठको को ई मेल द्वारा सब्सक्राईब करने का लिंक जरूर लगाए |
विजेट बार में फोल्लोवर बनने का विजेट जरूर लगाए - आज कल नए टेम्प्लेट में तो यह सुविधा आती ही है अगर नहीं भी हो तो आप इसे चालू कर सकते है |
टिप्पणी देने में कंजूसी ना करे - टिप्पणियां हिन्दी बलोग जगत के विकास में टिप्पणियों की अहम भूमिका रही है | कोइ भी बलोग्गर इसके महत्त्व को नकार नहीं सकता है |तो आप भी ज्यादा से ज्यादा टिप्पणी दे ताकी आपका लिंक ज्यादा से ज्यादा जगह पर दिखाई दे | और वो गूगल सर्च में टॉप पर आये | चिट्ठा जगत में भी ताजा टिप्पणियों में आपका जिक्र होता रहेगा | 
 
      मित्र ब्लॉग -अपने मित्रो के ब्लॉग का लिंक अपने ब्लॉग के साईड बार में दिखाए और उन्हें भी ऐसा करने का आग्रह करे |जिससे आपके ब्लॉग का लिंक ज्यादा से ज्यादा जगह पर दिखाई दे और आपके विजिटरो की संख्या में इजाफा हो|
अपने ब्लॉग को ब्लॉग अग्रीगेटर से जोड़े  - अपने ब्लॉग को जितने भी ब्लॉग अग्रीगेटर है उनमे पंजीकृत करे | जिससे की आपके ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा पाठक मिल सके और आपके ब्लॉग का लिंक भी ज्यादा जगह पर पहुचे |

     अच्छे पाठक बने - आप किसी भी ब्लॉग की नयी पोस्ट कैसे पढ़ते है | सबका अलग अलग जवाब होगा | रोहतक में जब बलोगर मिले थे तब भी बहुत से ब्लोगरो ने यही समस्या बतायी थी की ब्लॉग वाणी के बंद होने के बाद चिट्ठो की नयी पोस्ट पढने में परेशानी होती है | और अब तो चिट्ठाजगत भी बीमार चल रहा है | अजय भाई ने इसका एक सरल उपाय बताया था की आप अपने पसंदीदा ब्लॉग को फोल्लो कीजिये और अपने ब्लोगर डेशबोर्ड पर उनकी नयी पुरानी पोस्ट आराम से पढ़िए | लेकिन मुझे ये तरीका कम पसंद है |इसका सबसे बढ़िया उपाय है गूगल रीडर | गूगल रीडर सबसे बढ़िया माध्यम है जिससे की आप अपने पसंदीदा ब्लॉग या वेब साईट की नयी पुरानी पोस्ट को आराम से पढ़ सकते है |  इस के बारे में आपको बता दू की आपको गूगल रीडर के लिए अलग से खाता बनाने की आवश्यकता नहीं है आप इसमें अपने जी मेल से भी लोगिन कर सकते है | आपने जिन ब्लॉग को फोल्लो कर रखा है वो वंहा आपको स्वत ही मिल जाते है |बाकी जानकारी आप अगली पोस्ट में पढ़ सकते है |

     गूगल चैट का उपयोग - आप अपने गूगल चैट विंडो के स्टेटस में आप अपनी जिस पोस्ट को पढवाना चाहते है यानी की नयी पोस्ट उसका लिंक वंहा लगा सकते है | उस मैसेज को संपादित भी कर सकते है| आपके दोस्त उस मैसेज को पढ़कर आपकी नयी पोस्ट पर पहुच जायंगे |
                                                                                                      
     ऑरकुट और फेस बुक जैसी शोसल नेटवर्किंग साईटो का उपयोग - ये साईट भी विजिटरो को आपके ब्लॉग तक लाने का अच्छा माध्यम हो सकती है | आप अपने प्रोफाइल में, नए ताजा मेसेज में अपनी पोस्ट और ब्लॉग का जिक्र कर सकते है | फेस बुक में तो अपने नोट्स के रूप में अपने ब्लॉग को ही इम्पोर्ट कर सकते है जिससे आपके ब्लॉग की पुरानी पोस्ट भी वंहा आ जायेगी ज्यादा से ज्यादा प्रचार प्रसार होगा |

     अपने दोस्तों को,जान पहचान वालो को ई मेल द्वारा अपने ब्लॉग के बारे में बताये लेकिन एक बात का ध्यान रखे उनको एक बार ही मेल करे , बार बार करने से गलत असर होता है |
अपने ब्लॉग को सर्च इंजन में जोड़े - इस बारे में आप आशीष भाई के ब्लॉग पर जाए उन्होंने बहुत बढ़िया पोस्ट लिखी है |
अपने ईमेल के हस्ताक्षर में अपने ब्लॉग का पता जरूर लिखे -जिससे मेल प्राप्तकर्ता एक बार आपके ब्लॉग पर जरूर जाएगा अगर ब्लॉग अच्छा लगा तो वह उसे बुक मार्क कर पढेगा |

     अपने ब्लॉग को ज्यादा तडक भड़क वाला ना बनाए क्यों की पाठक वंहा साज सज्जा देखने नहीं आता है वो उसकी विषय सामग्री हेतु ही आता है | जितने ज्यादा जावा विजेट्स होंगे उतना ही पेज लोडिंग का समय बढेगा जो की एक पाठक के लिए उबाऊ होगा |

     सर्च इंजन में आने का सबसे बढ़िया फार्मूला है जो भी शब्द ज्यादा सर्च किये जाते है उन पर पोस्ट का ताना बाना बुना जाए | जैसे आज कल"मुन्नी बदनाम " "विकिलीक्स" आदि शब्द ज्यादा सर्च किये जाते है |
यह पोस्ट आपको किसी लगी अपनी राय दे | अगर कुछ समझ में ना आये तो टिप्पणी या मेल द्वारा पूछे |

इन्हें भी देखे






19 comments:

  1. नरेश जी
    नमस्कार , आपकी यह जानकारी नए ब्लॉगर साथियों के लिए महत्वपूर्ण है ...काफी सरल तरीके से समझाया है आपने ...शुक्रिया

    ReplyDelete
  2. बहुत बढिया, काम की और जनोपयोगी जानकारी दी है जी, आभार

    ReplyDelete
  3. बहुत ही बढ़िया जानकारी प्रदान की है। नरेश जी आपने इसके लिए आपका आभार
    मालीगांव
    http://sbhamboo.blogspot.com/2010/12/blog-post.html

    ReplyDelete
  4. महत्‍वपूर्ण जानकारी है। आज फोलोवर बनने के लिए ही आयी हूँ, क्‍योंकि चिठ्ठा जगत भी हाल फिलहाल अंगूठा दिखा रहा है।

    ReplyDelete
  5. अपना तो एक सीधा-सादा सा ब्लॉग है। कोई तडक-भडक नहीं।
    सभी बातें काम की हैं। नयो-पुरानों, ध्यान से पढ लो।

    ReplyDelete
  6. उपयोगी जानकारी नये ब्लॉगरों के लिये।

    ReplyDelete
  7. बेहद उपयोगी पोस्ट, आभार.

    रामराम.

    ReplyDelete
  8. सभी टिप्स बढ़िया है व उपयोगी है |
    एक टिप्स आपके लिए भी -
    फोलोवर विजेट बगल पट्टी पर लगायें ऊपर या नीचे रहने पर फोलोवर विजेट में फोटो की संख्या बढ़ जाती है जो ब्लॉग खोलते समय लोड होने में समय लगता है | बगल पट्टी में लगाने से फोटो की संख्या कम होने की वजह से पेज लोड होने में आसानी रहती है :)

    ReplyDelete
  9. बहुत ही सुंदर जानकारी ओर बहुत सरल तरीके से, धन्यवाद

    ReplyDelete
  10. नरेश जी
    नमस्कार
    महत्‍वपूर्ण जानकारी है नये ब्लॉगरों के लिये।

    ReplyDelete
  11. वाह! नरेश जी,आज तो ब्लाग पर ज्ञान प्रसाद बँट रहा है.....:)
    सच में ये जानकारी तो नए-पुराने सभी ब्लागर्स के लिए ही उपयोगी है. बढिया...

    ReplyDelete
  12. नरेश जी बहुत-बहुत घन्यवाद जानकारी देने का... इससे नए-पुराने दोनों ब्लॉगरो को फायदा होगा

    http://veenakesur.blogspot.com/

    ReplyDelete
  13. बढ़िया टिप्स ....आभार
    ब्लॉगरों के लिये उपयोगी जानकारी....

    ReplyDelete
  14. बेहतरीन जानकारी। नए ब्लागरों को काफी सहायता मिलेगी। मेरे ब्लाग पर टिप्पणी करने का धन्यवाद।

    ReplyDelete
  15. नरेशजी सबस्क्राईब करने का विजेट कैसे लगाना है? बहुत अच्छी जानकारी दी है। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  16. bahut jankari bhari post.aabhar.mere blog ''vicharonkachabootra.blogspot.com''par bhi padhare .dhanywad

    ReplyDelete
  17. Shukriya itni acchi jankari humse share kerne k liye

    ReplyDelete
  18. सर मैंने एक ब्लॉग बनाया है सबकुछ कर गया एक कम नहीं कर पा रहा हूँ मैंने ब्लॉग का टेम्पलेट और कहीं से डाउनलोड करके डाला उसमे पहले से ही टैब बने है केवल होम पेज काम कर रहा है और टैब काम नहीं कर रहें है मैं चाहता हूँ कि अलग-अलग पेज हो और मैं उनके अन्दर अपना मनपसंद पोस्ट डालू कृपया मेरी सहाएता कीजिय .

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |