Followers

Wednesday, November 10, 2010

शेखावाटी की पहली महिला ब्लोग्गर : डॉ.मोनिका शर्मा

पिछली पोस्ट में मैंने आपका परिचय शेखावाटी के हिन्दी बलोगरो से संक्षिप्त रूप में करवाया था | इस बार मै आपको डॉ. मोनिका शर्मा जी से मिलवाता हूँ |

मोनिका जी सीकर जिले के गाँव जानकीपुरा की रहने वाली है | हमारा गृह जिला झुंझुनू इनकी ससुराल है | लेकिन अब इनके पति महोदय की सेवा कनाडा में होने की वजह से आजकल कनाडा में रहती है| प्रारम्भिक शिक्षा पुश्तैनी गाँव जानकीपुरा में करने के बाद इनकी पढाई भोपाल म. प्र. में हुई । वहां से अर्थशास्त्र में एम. ए. करने के बाद इन होने पत्रकारिता और जनसंचार में भी मास्टर्स डिग्री ली। उसके बाद अपना शोधकार्य राजस्थान विश्वविद्यालय , जयपुर से पूरा किया। जिसका विषय ‘हिन्दी समाचार पत्रों में प्रकाशित सामाजिक चेतनामूलक विज्ञापन’ था। कुछ समय तक निजी महाविद्यालय में बतौर लेक्चरर और जयपुर दूरदर्शन के लिए समाचार वाचक का काम भी किया।अब तक इनके कई पत्र-पत्रिकाओं ( राजस्थान पत्रिका, दैनिक जागरण, नई दुनिया, डेली न्यूज , दैनिक हरिभूमि , दैनिक नवज्योति, दिशा-दृष्टि, वुमन ऑन टॉप और अनौपचारिका आदि) में बतौर स्वतंत्र लेखक करीब 500 आलेख प्रकाशित हो चुके हैं।
इन के पिताजी कोमर्शियल पायलट के पद से कुछ समय पूर्व ही रिटायर हुए है | इनके भाई भी एक कोमर्शियल पायलट ही है | इनका परिवार उच्च पदों पर होने के बावजूद गाँव कि मिट्टी से ये लोग जुड़े हुए है | जिसकी झलक इनके ब्लॉग में स्पष्ट रूप से देखी जा सकती है |


ब्लोगिंग करने का कारण वे कुछ यूं बयाँ करती है "आज के दौर में अपने विचारों को साझा करने के लिए ब्लॉगिंग बहुत अच्छा प्लेटफॉर्म है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें एक तरफा संवाद नहीं होता । पाठकों की राय भी हाथों-हाथ मिल जाती है । इस तरह एक वैचारिक प्रवाह बना रहता है जो मुझे काफी सकारात्मक लगता है।"


उनके बलोग तीज तेवार के बारे में पूछने पर उंहोने बताया " तीज-तेवार राजस्थानी भाषा में है। इस ब्लॉग पर मैंने खासतौर पर राजस्थानी नेगचार, रीति-रिवाज और तीज-त्योंहारों से जुङी बातों को सहेजने की कोशिश की है। यह हमारे रीति-रिवाजों के बारे में जो चीजें मुझे पीहर-सासरे में देखने-सीखने को मिली उन्हें अंतरजाल पर सबके साथ बांटने का प्रयास है। इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य यही है कि आगे आने वाली पीढियां भी हमारे गीत-नात, नेगचार को जानें और इनके माध्यम से हमारी सांस्कृतिक और सामाजिक विरासत से जुड़ाव रखे।"

अपनी सफलता का सारा श्रेय वे अपने माता पिता को देते हुए कहती है "मेरे माता पिता मेरे लिए शक्ति स्तंभ रहे हैं. माँ एक गृहणी हैं और ज़्यादातर समय गाँव में ही रही हैं पर उन्हों ने हमेशा चाहा की मैं अपनी पढाई जारी रखूं . इसी तरह पापा ने भी हमेशा उत्साहवर्धन किया और आगे बढ़ने की हिम्मत दी है |"

भविष्य के बारे में उनका नजरिया " मेरा मानना है- आने वाले समय में हम पारिवारिक और सामाजिक स्तर पर सकारात्मक उन्नति चाहते हैं तो बच्चों का सही तरह से पालन पोषण बहुत जरूरी है। इसके लिए उन्हें समय देना उन्हें समझना बेहद आवश्यक है।मेरा इस बात में पूरा विश्वास है कि माँ होने से बढकर जिम्मेदारी दूसरी कोई नहीं हो सकती। यही वजह है कि फिलहाल मैं अपना पूरा समय अपने बेटे चैतन्य की बेहतर परवरिश में लगाना चाहती हूं। जितना समय मिलता है उसमें अच्छा पढने लिखने की कोशिश जरूर करती हूं"

मोनिका जी के ब्लॉग :
परवाज ....शब्दों के पंख
तीज तेवार
चैतन्य का कोना

22 comments:

  1. इनके ब्लॉगों का नियमित पाठक हूँ, आज परिचय पाकर लेखन को और समझ सकूँगा।

    ReplyDelete
  2. मोनिका जी के ब्‍लाग पर अक्‍सर जाना होता है ........आज इनका परिचय पाकर अच्‍छा लगा....प्रस्‍तुति के लिये आभार सहित शुभकामनायें ।

    ReplyDelete
  3. सार्थक हिन्दी लेखन के लिए मोनिका जी को बहुत बहुत बधाई
    इनका परिचय जानकर बहुत अच्छा लगा
    इनका परिचय देने के लिए नरेश जी आपका आभार

    ReplyDelete
  4. मोनिका जी बहुत अच्छा लिखती हैं। उनका विस्तृत परिचय जानकर खुशी हुई।

    ReplyDelete
  5. मोनिका जी को पढना तो अच्‍छा लगता ही है .. आज उनसे मिलकर भी बहुत अच्‍छा लगा !!

    ReplyDelete
  6. बहुत सुखद लगा मोनिका जी से मिलना, और ये भी जोरदार संजोग है.. गृह जिला सीकर और ससुराल जिला झुंझनू. आप तो सब शेखावाटी वालों को आपस में परिचय करवा कर आपके ब्लागानुरूप कार्य कर रहे हैं. बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. शेखावाटी की पहली महिला ब्लोगर मोनिका जी का परिचय जानकर बहुत अच्छा लगा, और जैसा की ताऊ जी ने कहा की -- आप तो सब शेखावाटी वालों को आपस में परिचय करवा कर आपके ब्लागानुरूप कार्य कर रहे हैं. बहुत शुभकामनाएं. मेरा भी यही कहना है

    ReplyDelete
  8. हालाँकि अभी तक मोनिका जी को पढने का सौभाग्य तो नहीं मिल पाया...लेकिन इनसे आपके माध्यम से मिलना बेहद सुखद रहा..
    अब से उन्हे जरूर पढा करेंगें.....

    ReplyDelete
  9. मोनिका जी का परिचय जानकर बहुत सुखद अहसास हुआ |

    ReplyDelete
  10. मेरा परिचय इतने सुंदर ढंग से करवाने के लिए...... हार्दिक आभार नरेशजी.....
    सचमुच शेखावाटी के लोगों का यूं आपस में परिचय करवाकर आप बहुत उम्दा कार्य कर रहे हैं.....
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. मोनिका जी सुं पहलां भी ब्लॉग पै मिल्योड़ा हां, फ़ेर थ्हे सगळो ही परिचे करवा दियों।

    कदे म्हारो भी परिचे छपसी:)

    राम राम
    जय माता दी।

    ReplyDelete
  12. aap inkae vichar naari blogpar bhi padh saktey haen

    ReplyDelete
  13. मोनिका जी को पहले भी पढ चुके हैं , यहां इतने सुंदर तरीके से उनका परिचय करवाने के लिए शुक्रिया । ब्लॉगजगत को एक संवेदनशील ब्लॉगर मिलने की बधाई

    ReplyDelete
  14. मोनिका जी का पूरा परिचय जान कर अच्छा लगा ..

    ReplyDelete
  15. राम राम, जी नरेश जी ...
    और बाकी सभी वरिष्ठ साथियो ...
    नरेश जी ने ये बहुत बढ़िया शुरुआत की है जिसमे शेखावाटी के ब्लॉगर्स की जान पहचान कराई जा रही है ..
    हमने भी एक प्रयास किया था एक सफल ब्लॉगर बनने का पर समयाभाव के कारण ज्यादा कुछ नहीं कर पाए ...
    पर जब जब वक्त मिलेगा आपसे जुड़े रहेंगे :)

    ReplyDelete
  16. मेरी हार्दिक शुभ कामनाएं आपने विस्तृत परिचय दिया आभार मैं इनके ब्लाग का नियमित पाठक हूं
    मिसफ़िट पर ताज़ातरीन

    ReplyDelete
  17. बहुत-बहुत बधाई!
    इस पोस्ट की चर्चा चर्चा मंच पर भी है!
    http://charchamanch.blogspot.com/2010/11/335.html

    ReplyDelete
  18. डॉ. शर्मा से पहचान कराने के लिये आपका शुक्रिया! उनको शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  19. मोनिका जी का पूरा परिचय जान कर अच्छा लगा
    राम राम सा

    ReplyDelete
  20. your blog is very good i like it
    gopal sharma
    dubai
    UAE

    ReplyDelete
  21. i like u r blog
    plz be continue.
    thanks
    gopal sharma
    dubai
    uae

    ReplyDelete
  22. VERY GOOD, I LIKE THIS BLOG.BADHAI..................KARMVIR KATEWA KANWARPUR JJN.

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |