Followers

Tuesday, April 13, 2010

आइये मोबाईल द्वारा माइक्रो फोटोग्राफी करे

मै आज आपको जो तकनीक बताने जा रहा हूँ वह कोई नयी तकनीक नहीं है फर्क इतना है की यह लेख अंग्रेजी में था जिसे मै आपके लिए हिन्दी में ले कर आया हूँ |
अगर आपके पास कैमरे वाला मोबाइल है तो आप उसके द्वारा सूक्ष्म चीजों की फोटो सामान्य तोर पे नहीं ले सकते है | इसके लिए विशेष लेंस खरीदने की जरूरत होती है | पर आपको ऐसा करने की जरूरत नहीं है | आपको इस कार्य को करने के लिए लेंस आपके घर पर ही उपलब्ध हो जाएगा |
आपके पुराने खराब सीडी प्लेयर, या डीवीडी प्लेयर या सीडी या डीवीडी रोम में से आप लेंस वाली असेसरीज निकाल ले | उसमे से ध्यान पूर्वक जो लेंस दिया गया है उसे निकाल ले | उस प्लास्टिक के बने लेंस को कैमरे के लेंस के सामने सेलो टेप द्वारा चिपका दे | अगर आपको यह लेंस नहीं मिलता है तो विकल्प के रूप में आप टौर्च में लगने वाला लेंस जो शीशे के सामान दिखता है उसे भी काम में ले सकते है |
बस हो गया आपका जुगाड़ तैयार अब आप मक्खी या मच्छर आदि की फोटो ले सकते है | नीचे मेरे चाइनीज़ मोबाइल जिसमें १.३ मेगा पिक्सल का कैमरा है, के द्वारा ली गयी तस्वीर देखिए | .

12 comments:

  1. जय हो जुगाड़ की ! बढ़िया जुगाड़ बताया है आपने |

    ReplyDelete
  2. ई तो घणा जोरदार जुगाड भिडाया जी.

    रामराम

    ReplyDelete
  3. jugad badhiyan hai.....shukriya batane ke liye........

    ReplyDelete
  4. महान कार्य किया है आपने तो. अंग्रेजी के ज्ञान को हिंदी में परिवर्तित करके हिंदी प्रेमियों को लाभान्वित करने वाला कार्य किया है आपने. :)

    ReplyDelete
  5. हम तो वर्षों से ऐसे किसी जुगाड़ की तलाश में थे. आभार.

    ReplyDelete
  6. मैने तो अपने उन्न्तोदर लैंस को आगे रख कर मोबाइल से चित्र खींचा। खराब नहीं आया!
    इसी बहाने अटाले में रखा उन्न्तोदर लेंस भी खोज लिया! :-)

    ReplyDelete
  7. इस जुगाड़ से तो मक्खी वडी beautifull दिख रही है......जय हो. ....

    ReplyDelete
  8. हर नई सोच नया प्रयोग उत्सुकता पैदा करता है । हम भी आजमा कर देखेंगे जरूर ही ।
    वैसे असलियत में तो ई गुरू सबकुछ ग्रहण कर गए इस पोस्ट से ....हम चेलों को इतनी गूढ समझ कहां ??? जय हो गुरूदेव की । हमें लगा कि महान काम सिर्फ़ गुरू लोग ही कर सकते हैं .......और देखिए इस पोस्ट पर ऐसी टिप्पणी देना भी कोई कम महान काम नहीं है नरेश जी जो गुरूजी ने कर दिया ।

    ReplyDelete
  9. बढ़िया जुगाड़ बताया है आपने ..........

    ReplyDelete
  10. बहुत ही अच्छा जुगाड हे !

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |