Followers

Sunday, August 16, 2009

भुवन तो आया मगर लगान जैसा मजा नही आया

हम सभी के लिये बहुत खुशी की बात है कि हमारे देश द्वारा निर्मित बहुत प्रतीक्षित सॉफ्टवेयर भुवन अब जारी हो गया है इसके बारे मे कहा गया था कि यह गूगल अर्थ से भी एक कदम आगे होगा । क्यो की इसमे जो फोटोग्राफ्स काम में लिए गए है वो नए है | गूगल एक ऐसी कम्पनी है जिसे टक्कर देना काफी चुनौती पूर्ण काम है । भुवन के लाँच होने के बाद हम लोग अपने देश व अपने लोगों पर गर्व कर सकते है । इसको बनाने का सारा श्रेय इसरो( भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केन्द्र ) को है इसका सॉफ्टवेयर एक विदेशी कम्पनी ने बनाया है ।






















-








भुवन की एक विशेषता यह भी बताई गयी है कि यह गूगल अर्थ से भी ज्यादा साफ व स्पष्ट तस्वीरे दिखायेगा । यह बात बीटा वर्ज़न मे सही नही है ।






मैं ने इसे चला कर देखा है । इसका एक प्लग इन डाउन लोड करना पड़ता है जिसे आप इसकी साइट से रजिस्टर होने के बाद फ्री मे प्राप्त कर सकते है । आप स्क्रीन शॉट देख कर खुद ही समझ जायेंगे । हा एक बात और बता दू यह मोजिला फायर फॉक्स मे काम नही करता है इसे इंटर नेट एक्सप्लोरर मे ही चलाना पड़ता है । बीटा वर्ज़न मे है इस लिये यह बहुत धीमे चलता है । अभी इसमे डाटा बेस छोटा होने की वजह से प्लेस मारकिंग भी बहुत कम है । तस्वीरे स्पष्ट नही है केवल कोई पहाड़ी वगैरह ही ज्यादा स्पष्ट दिखायी देती है । अभी शैशव अवस्था मे है इस लिये यह गूगल अर्थ से पीछे है लेकिन आने वाले समय मे हो सकता है इसमे सुधार हो और यह गूगल अर्थ से भी आगे निकल जाये |

9 comments:

  1. इसका फायरफाक्स में न चलना हमारा घिसी-पिटी और गुलाम मानसिकता (यहाँ माइक्रोसाFत की गुलामी) के चलते हैं। यह बहुत आपत्तिजनक कमी है।

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया काम किया है इसरो ने ...बहुत बहुत बधाई ....ये तो एक छोटा सा कदम है ...हम्हें तो काफी दूर जाना है |

    ReplyDelete
  3. Thodi der pahle rahul prtap singh ki is bare me post padhi thi abhi downloading chal rahi hai usse pahle aapki post se pata chal gaya iske bare me | yani put ke pav palne me hi dikhai de haye

    ReplyDelete
  4. बहुत बढिया जानकारी दी आपने.

    रामराम.

    ReplyDelete
  5. एक 10 एमबी की फाईल तो डाऊनलोड हो गई है लेकिन जब प्रयोग करने की बारी आई तो काम ही नहीं कर रहा।

    ReplyDelete
  6. इसरो को बधाई । अजीब है कि इसे फायरफॉक्स के अनुकूल नहीं बनाया गया है ।

    हो सकता है इसमें आगे सुधार हो ।

    ReplyDelete
  7. भुवन अभी शैशवावस्था में ही लगता है इसरो को इसे जारी करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए थी इसे पूरा तैयार करके जारी करना चाहिए था इस तरह आधा अधुरा काम नकारात्मक छवि बनाता है | फिर भी प्रयास सराहनीय है |

    ReplyDelete
  8. इसरो को बधाई, लेकिन अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी लग रहा है इसमें.. आपने अच्छी जानकारी दी है.. हैपी ब्लॉगिंग

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |