Followers

Friday 3 June 2011

टू व्हीलर वालो के लिए तो ये जुगाड वरदान है .........................नरेश सिंह राठौड़

        अगर आप टू व्हीलर चलाते है ,तो आपका वास्ता उसके पंक्चर होने की स्थति से भी पड़ा होगा | शहरी क्षेत्र में तो इस स्थिति में कोइ ज्यादा परेशानी नहीं होती है क्यों कि थोड़ी थोड़ी दूरी पर पंक्चर बनाने वाली दूकान मिल जाती है | परिस्थिति गंभीर तब बन जाती है जब आप ग्रामीण क्षेत्र से होकर जा रहे हो, वंहा दूर दूर तक किसी दूकान का नाम निशान नहीं हो़ता है |

        इस समस्या से मुझे भी अक्सर दो चार होना पड़ा तब मुझे किसी परिचित ने इस जुगाड से परिचय करवाया | इसका नाम क्या है ये मै भी नहीं जानता हूँ | आप कुछ भी नाम रख लीजिए इससे कोइ फर्क नहीं पड़ता है | इसकी बनावट पलम्बरिंग में काम में आने वाली एक डिवाइस जिसे रेडुसर (reducer) कहते है को देख कर की गयी है | जो की मोटी पाईप को पतली पाईप से जोड़ने के काम आता है| इस जुगाड़ के द्वारा आप साईकिल में हवा भरने वाले पम्प से अपने टू व्हीलर या फॉर व्हीलर के टायर में हवा भर सकते है | एक बार हवा भर जाने से आप नजदीक के 10 -15 किमी में किसी भी पंक्चर बनाने वाली दूकान तक आराम से पहुच सकते है , और साईकिल का पम्प आसानी से हर जगह पर मिल ही जाता है | अरे !कीमत बताना तो भूल ही गया मात्र दो रूपये .......!

      अब आप इसकी बनावट को सचित्र देखिये |





 

16 comments:

  1. jaankaari ke liye shukriya bahut bahut..
    मेरी नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है : Blind Devotion - अज्ञान

    ReplyDelete
  2. जुगाड़ तो बहुत बढ़िया है | बचपन में चार किलोमीटर दूर स्कूल जाते थे रास्ते में साईकिल कभी पंचर नहीं हुई पर हम तो साथ में पम्प,सोल्यूशन,रबड़ का टुकड़ा,पेचकस,प्लास आदि पुरे औजार अपने साथ रखते थे पता नहीं कब जरुरत पड़ जाये |

    ReplyDelete
  3. आप का जुगाड मेरे पास है, जैसा आपने कहा, बिल्कुल वैसा ही है ये जुगाड, मेरे जैसे सिरफ़िरे के लिये तो ये जुगाड नहीं रामबाण है, एक बार इसके सहारे पचास किलोमीटर तक चले गये थे,

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर जानकारी, वैसे मेरे पास साईकिल पम्प ही हे,जिस से हम फ़ुटवाल मे, कार मे, साईकिल मे,वोट मे, गद्दे मे यानि कई जगह हवा भर सकते हे, ओर जुगाड आप से ही मिलता जुलता हे, ऎसी जानकारियां आम लोगो को नही पता नही होती, इस लिये सब से बंटनी चाहिये

    ReplyDelete
  5. इस जुगाड का मैंने पहले ही जुगाड़ कर लिया था ...लकिन अभी मेरे पास साइकिल ही है, तो इसकी जरूरत ही नहीं पढ़ती, वैसे जुगाड़ बहुत बढिया है ....हा हमारे यहाँ सब कुछ जुगाड़ से ही तो चलता है....हा हा हा ..|

    ReplyDelete
  6. नरेश जी आपका ये जुगाड़ तो वास्तव में ही कमाल का है। कहां मिलता हैं मुझे भी बताना एक साथ रखा करेगें।

    ReplyDelete
  7. शेखावाटी के हीरो नरेश सिंह राठोर का आज जन्म दिन है
    शेखावाटी के हीरो नरेश सिंह राठोर का आज जन्म दिन है
    नरेश सिंह राठोड जो अंग्रेजी और हिंदी दोनों में ब्लोगिंग कर रहे हैं और केवल रोजमर्रा की जरूरतों की जानकारी अपने इस ब्लॉग पर लोगों तक पहुंचा रहे हैं ...राजस्थान में झुंझुनू जिले के बगड़ कस्बे में रहने वाले व्यापार से जुड़े नरेश सिंह जी राठोड अपनी ब्लोगिंग में राजस्थान और खासकर शेखावटी की संस्क्रती से देश भर को परिचित कराने में लगे हैं ....भाई नरेश जी ने २७ दिसम्बर २००७ को अपना पहला ब्लॉग हमारे समक्ष रखा जिसमे वित्तीय संस्थाओं की चोर बाजारी को बिना महंत के कमाए शीर्षक से उजागर किया .............भाई नरेश कभी ग्रामीण इलाके में पंचर हो जाने पर उस मुसीबत से छटकारा पाने के लियें फार्मूला सुझाते हैं तो कभी शेखावटी के राजपूतों की आन बान शान से हमे परिचित कराते है कभी भाई नरेश अपने ब्लॉग के माध्यम से शेखावटी की प्रतिभाओं से हमे अवगत कराते हैं .....इनके ब्लॉग .........मेरी शेखावाटी ....बगड़ टाइम्स ....rajput word ...nresh bagad ...हैं और आज नरेश जी का जन्म दिन है उनके जन्म दिन के अवसर पर उन्हें बधाई .......अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

    ReplyDelete
  8. नरेश सिंह राठौड़ जी
    सादर अभिवादन !


    आज आपका जन्मदिन है …
    कृपया , स्वीकार करें … जन्मदिवस पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !


    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  9. iska petent jaroor karwa lena varna amerika ko pata lag gaya to vo karwa lega......sadhwaad

    ReplyDelete
  10. Namskar,
    panchar wala jugad achha hain.

    ReplyDelete
  11. बढ़िया जुगाड़
    हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  12. हमने ये जुगाड बचपन में काफ़ी आजमाये हैं, परफ़ेक्ट हैं और आश्चर्य यह कि आज भी उतने ही उपयोगी हैं, बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |इस लिए केवल सार्थक टिप्पणी ही करे | टिप्पणी के प्रतिउत्तर में टिप्पणी की आशा न रखे | अपने ब्लॉग या पोस्ट के प्रचार हेतु टिप्पणी ना करे |