Followers

Wednesday 25 April 2012

मुझे कलेंडर चाहिए

      यंहा आने के बाद ब्लॉग पढ़ना लिखना पूरी तरह से छुट गया है | क्या लिखू ये भी
नहीं समझ में नहीं आ रहा है | एक तो यंहा समय नहीं मिलता है देश दुनिया के
बारे में सोचने के लिए ,दूसरा लिखने के लिए उचित माहौल भी नहीं है |

     मै जिस कैम्प में रहता हूँ उसी कैम्प में कुछ अफगानी नागरिक भी काम करते है |
उन्ही लोगो में एक  है नजर गुल ,नजर गुल पहले थोड़े दिन दुबई में काम कर चूका
है इस लिए वो हिंदी भाषा में काम चलाऊ बात चीत कर लेता है उसे अंगरेजी नहीं
आती है |  क्रेन ओपरेटर है यंहा जितने भी अमेरिकन सुपरवईजर है उन्हें पश्तो
,दारी,हिंदी उर्दू नहीं आती है इसलिए वो अफगानी लोगो से बात चीत करते समय मेरे
जैसे किसी आदमी को खोजते है जिसे दो भाषा का ज्ञान हो |

      एक दिन मुझे अपने विभाग के किसी काम के लिए क्रेन की जरूरत पड़ी तो मैंने नजर
गुल से  उसके कमरे पर जाकर बातचीत की और कहा की आज दो तीन घंटे का काम है तुम
अपनी क्रेन लेकर मेरे यार्ड में आ जाना कुछ कंटेनर को इधर उधर रखना है |
नजर गुल तय शुदा कार्य क्रम  के अनुसार आ गया ,लेकिन आने के बाद बोला साहब मै ये
काम नहीं कर पाऊंगा मैंने बोला क्यों क्या बात हुयी | तो वो बोला की मुझे
एक कलेंडर चाहिए बिना कलेंडर के मै काम नहीं कर सकता | मै बोला यार कलेंडर की
क्या बात करते हो एक क्यों मै तुम्हे चार कलेंडर दे दूंगा लेकिन  तुम काम तो
करो एक कलेंडर अपने कमरे पर रखना ,एक क्रेन  में रखना | ,मै ने इन्टरनेट से दो
मिनट में डाऊनलोड करके प्रिंट निकल कर उसे पकड़ा दिया ,
काफी देर तक तो वो समझा ही नहीं की ये क्या है !

     उसे पढ़ना नहीं आता है लेकिन तारीख के अंक उसे भी समझ में आ रहे थे | वो बोला
साहब ये नहीं चाहिए जो क्रेन ओपरेटर के साथ काम करता है |  वो हेल्पर की जरूरत
है क्यों की कंटेनर के ऊपर जाकर हुक लगाना पडेगा और मेरे पास जो हेल्पर था वो
घर गया हुआ है | अब मुझे समझ में आया की ये हेल्पर को क्लीनर बोल रहा था लेकिन
उसे क्लीनर का नाम नहीं आता है और कलीनर की जगह कैलेण्डर बोल रहा है |

Inline image 1

9 comments:

  1. अफगानिस्तान जैसे विषम परिस्थितियों वाले देश में काम करना ही अपने आप में अजूबा है। यह कितनी बड़ी बात है कि आप प्रतिकूल हालात के बावजूद कभी-कभार समय निकाल कर ब्लॉग पर आ जाते हैं। वतन वापसी कब तक होगी।

    ReplyDelete
  2. मि इंडिया फिल्म में हेल्पर का नाम कलेण्डर ही था।

    ReplyDelete
  3. आपकी पोस्ट कल 19/4/2012 के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें

    चर्चा - 861:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    ReplyDelete
  4. sahi baat hai aamtor pr driver apne hailpar ko kalendar hi kahte hai..

    ReplyDelete
  5. sahi baat hai aamtor pr driver apne hailpar ko kalendar hi kahte hai..

    ReplyDelete
  6. अजी ये तो कुछ भी नहीं , कभी जापानियों की इंग्लिश सुनना , सुनकर रोना आएगा , अँगरेज़ भी अफ़सोस करेंगे अपनी भाषा पे.
    हमारे इधर बहुत जापानी हैं ये किस शब्द को क्या बोते हैं वो देखिये :-
    "ट" को "त"
    "ल" को "र"
    "ड" को "द"
    जैसे टोयोटा को तोयोता , कैलेण्डर को करेंदर .आदि

    ReplyDelete
  7. aapki post bahut dino baad padhne ko mili.....padhate hi Dil baag baag ho gya.....

    ReplyDelete

आपके द्वारा की गयी टिप्पणी लेखन को गति एवं मार्गदर्शन देती है |इस लिए केवल सार्थक टिप्पणी ही करे | टिप्पणी के प्रतिउत्तर में टिप्पणी की आशा न रखे | अपने ब्लॉग या पोस्ट के प्रचार हेतु टिप्पणी ना करे |